संत कहते तो संपूर्ण संसार से हैं, लेकिन केवल कुछ भाग्यशाली ही सुन पाते हैं। — संत राजिन्दर सिंह जी महाराज