आत्मा इस भौतिक संसार में केवल एक यात्री है। उसने यह भौतिक शरीर पहन रखा है और उसे यह भौतिक मन दिया गया है। — संत राजिन्दर सिंह जी महाराज